Type Here to Get Search Results !

uphesc : प्रदेश के सहायता प्राप्त महाविद्यालयों को मिले 20 असिस्टेंट प्रोफेसर

उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयेाग ने बुधवार को असिस्टेंट प्रोफेसर पद भर्ती के चार विषयों का अंतिम परिणाम जारी किया है। इससे सूबे के सहायता प्राप्त महाविद्यालयों को चार विषयों में 20 नए असिस्टेंट प्रोफेसर मिले हैं।




गृह विज्ञान के 12 पदों के लिए 21 जून को साक्षात्कार में 37 में से 33 अभ्यर्थी उपस्थित हुए थे। संगीत सितार के दो पदों के लिए बुधवार को साक्षात्कार लिया गया था। छह अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया गया था।


उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयेाग ने बुधवार को असिस्टेंट प्रोफेसर पद भर्ती के चार विषयों का अंतिम परिणाम जारी किया है। इससे सूबे के सहायता प्राप्त महाविद्यालयों को चार विषयों में 20 नए असिस्टेंट प्रोफेसर मिले हैं। आयोग ने अनुवांशिकी एवं पादप प्रजनन में असिस्टेंट प्रोफेसर के चार पदों के लिए 20 जून को आयोजित साक्षात्कार लिया था। 12 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया गया था। इनमें से 11 अभ्यर्थियों ने प्रतिभाग किया।




गृह विज्ञान के 12 पदों के लिए 21 जून को साक्षात्कार में 37 में से 33 अभ्यर्थी उपस्थित हुए थे। संगीत सितार के दो पदों के लिए बुधवार को साक्षात्कार लिया गया था। छह अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया गया था। इनमें से चार इंटरव्यू में शामिल हुए, जबकि भूमि संरक्षण के दो पदों के लिए बुधवार को साक्षात्कार में छह में से पांच अभ्यर्थी पहुंचे थे।



सचिव वंदना त्रिपाठी के मुताबिक इन पदों पर चयनित अभ्यर्थियों का अनुमोदित चयन परिणाम आयोग के पोर्टल www.uphescw®wv.co.in और वेबसाइट www.uphesc.org पर उपलब्ध है। जिन अभ्यर्थियों ने साक्षात्कार के समय आवश्यक अभिलेख जमा नहीं किए हैं वे 21 दिन के अंदर 13 जुलाई तक कार्यालय में जरूर उपलब्ध करा दें। अन्यथा अभिलेखों के अभाव में उनका अभ्यर्थन निरस्त हो जाएगा।


स्टाफा नर्स : नियुक्ति के छह माह बाद भी नहीं मिली नियुक्ति, आयोग पर प्रदर्शन 

स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा में चयनित अभ्यर्थी परिणाम जारी होने छह माह बाद भी नियुक्ति न मिलने से अभ्यर्थियों में नाराजगी है। बुधवार को अभ्यर्थियों ने लोक सेवा आयोग गेट पर नारेबाजी की। अभ्यर्थियों का कहना है कि चयनितों में अधिकतर संविदा पर कार्य कर रहे थे। एनओसी देने के बाद वह नौकरी भी छोड़ दी। ऐसे में उनके सामने आर्थिक संकट गहरा गया है। 



आयोग ने स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा- 2021 की लिखित परीक्षा 3 अक्तूबर 2021 में कराई थी। अंतिम परिणाम चार जनवरी 2022 को जारी हुआ था। 3014 अभ्यर्थी इसमें सफल हुए थे। परिणाम जारी होने के बाद आयोग की ओर से चयनित अभ्यर्थियों के प्रपत्रों की जांच भी करा ली गई है। लेकिन इस प्रक्रिया के छह माह बाद भी इन्हें अभी तक नियुक्ति नहीं मिल पाई है। चयनित अभ्यर्थियों का कहना है कि चयनित लगभग 6 महीने से नियुक्ति से वंचित हैं। अधिकतर संविदा पर काम कर रहे थे।


आयोग की ओर से एनओसी मांगे जाने पर नोटिस देकर त्यागपत्र दे दिया है। ऐसे में चयनित उम्मीदवार आर्थिक और मानसिक तनाव का सामना कर रहे हैं। अभ्यर्थियों ने कहा कि 12 मई को ज्ञापन देने पर आयोग की ओर से बताया गया था कि जल्द ही नियुक्ति संबंधित फाइल संबंधित विभाग को भेज दी जाएगी। लेकिन 45 दिन से भी ज्यादा का समय होने पर फाइल भेजी नहीं गई। इससे चयनित अभ्यर्थी मानसिक और आर्थिक परेशानी का सामना कर रहे हैं। अभ्यर्थियों ने जल्द नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने की मांग की।


from Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Hollywood Movies