Type Here to Get Search Results !

UP: जुमे की नमाज को लेकर पश्चिमी यूपी में हाई अलर्ट, सहारनपुर को 14 जोन और 21 सेक्टरों में बांटा, चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात

जुमे की नमाज को लेकर पश्चिमी यूपी के जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रशासन ने सहारनपुर जनपद को 14 जोन और 21 सेक्टरों में बांटा है। तीन सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, 14 जोनल और 21 सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं।


UP: जुमे की नमाज को लेकर पश्चिमी यूपी में हाई अलर्ट, सहारनपुर को 14 जोन और 21 सेक्टरों में बांटा, चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात


जुमे की नमाज पर सहारनपुर में हुए बवाल के बाद पूरे पश्चिमी यूपी में हाई अलर्ट है। आज फिर से जुमे की नमाज पर पुलिस फोर्स चप्पे-चप्पे पर तैनात है।

सहारनपुर में फोर्स तैनात।


जुमे की नमाज को लेकर पश्चिमी यूपी के जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। प्रशासन ने सहारनपुर जनपद को 14 जोन और 21 सेक्टरों में बांटा है। तीन सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, 14 जोनल और 21 सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं। प्रमुख मस्जिदों के आसपास पुलिस के अलावा पीएसी और आरएएफ भी तैनात रहेगी। इसके साथ ही संवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरों से भी नजर रखी जाएगी।


   
पिछले शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल के बाद से पुलिस-प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। इस बार उपद्रवियों से निपटने के लिए पुलिस-प्रशासन पूरी तरह तैयार है। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने जनपद को 14 जोन और 21 सेक्टरों में विभाजित किया है। इसके साथ ही तीन सुपर जोनल, 14 जोनल और 21 सेक्टर मजिस्ट्रेट भी नियुक्त कर दिए हैं, जो शुक्रवार को पुलिस फोर्स के साथ अपने-अपने क्षेत्र में भ्रमण करते रहेंगे। इसके अलावा महानगर की जामा मस्जिद के अलावा सभी प्रमुख मस्जिदों और मदरसों के आसपास पीएसी, आरएएफ और पुलिस बल तैनात रहेगा।


49 संवेदनशील इलाके चिह्नित 
जिले में 49 प्रमुख संवेदनशील इलाके चिह्नित किए गए हैं। इसके अलावा शहर के मिश्रित आबादी वाले इलाकों में पुलिस ड्रोन कैमरे से नजर रखेगी। इसके अलावा देवबंद में भी ड्रोन की मदद ली जाएगी।
 
धर्मगुरुओं ने की शांति बनाए रखने की अपील
पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने धर्म गुरुओं से भी वार्ता की। वहीं, मुस्लिम धर्म गुरुओं ने सौहार्द के साथ जुमे की नमाज अदा कर शांति बनाए रखने की अपील की है। जामा मस्जिद प्रबंधन कमेटी से प्रबंधक मौलाना मौलवी फरीद, इमाम मुफ्ती कारी अरशद सचिव मसूद बदर, कोषाध्यक्ष डॉ. मरगूब हसन ने कहा कि शांतिपूर्ण तरीके से जुमे की नमाज अदा करें। लोग अपने घरों के आसपास स्थित मस्जिदों में ही नमाज पढ़ें। ऐसा कोई काम न करें, जो कानून और शरीयत के खिलाफ हो। खासकर युवा किसी के बहकावे में न आएं और अफवाहों पर ध्यान न दें। 

सोशल मीडिया पर रहेगी खास नजर 
शुक्रवार को पुलिस की सोशल मीडिया पर भी खास नजर रहेगी। इसके लिए साइबर थाना पुलिस और साइबर सेल को लगाया गया है। किसी ने धार्मिक भावनाएं आहत करने वाली पोस्ट डाली या फिर अफवाह फैलाई तो उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। इसको लेकर एसएसपी आकाश तोमर ने दिशा निर्देश जारी किए हैं। 

जनपद को 14 जोन और 21 सेक्टरों में बांटा गया है। तीन सुपर जोनल, 14 जोनल और 21 सेक्टर मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। धर्म गुरुओं से वार्ता कर ली गई है। नागरिकों को भी चाहिए कि वह शांति बनाए रखने में पुलिस-प्रशासन का सहयोग करें। - अखिलेश सिंह, जिलाधिकारी 

किसी ने कानून का उल्लंघन किया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के सभी बंदोबस्त कर लिए हैं। पुलिस के अलावा आरएएफ व पीएसी भी तैनात रहेगी। किसी ने उपद्रव करने की कोशिश की तो उसके खिलाफ प्रभावी कार्रवाई होगी। - आकाश तोमर, एसएसपी 

जुमे की नमाज को लेकर अलर्ट, डीएम-एसपी ने पैदल मार्च किया  

बागपत में जुमे की नमाज को लेकर पुलिस-प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। गुरुवार को डीएम, एसपी ने अलग-अलग जगहों पर पुलिस बल के साथ पैदल मार्च किया। उन्होंने मुस्लिम समाज के लोगों से बातचीत कर शांतिपूर्ण ढंग से नमाज अदा करने की अपील की। 

उन्होंने बताया कि सभी मस्जिदों के बाहर व आसपास पुलिसबल तैनात रहेगा और अराजक तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा। एसपी नीरज कुमार जादौन ने बताया कि जिलेभर में चप्पे चप्पे पर पुलिस अलर्ट रहेगी। एसपी के अनुसार जुमे की नमाज पर सुरक्षा की दृष्टि से जिले को चार जोन व 11 सेक्टरों में बांटा गया है। जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेटों की ड्यूटी लगा दी गई है।




जुमे की नमाज को लेकर प्रशासन सतर्क, ड्रोन से की निगरानी

बिजनौर में जुमे की नमाज को लेकर पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है। जिले में गुरुवार को संवेदनशील स्थानों और मस्जिदों के आसपास ड्रोन उड़ाकर निगरानी की गई। शहर से लेकर गांव देहात तक पुलिस ने पैदल मार्च करते हुए शांति व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए। वहीं, धार्मिक संगठनों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जा रही है। पुलिस के साथ-साथ प्रशासनिक अधिकारी और कर्मचारी भी किसी भी विरोध प्रदर्शन की आशंका लेकर सूचनाओं को जुटाने में लगे रहे।
 
पिछले जुमे की नमाज को लेकर जो तैयारियां पुलिस की ओर से की गई थीं, वे अभी तक बनी हुई हैं। पुलिस की ड्यूटी जस की तस लगी है। जिले को तीन सुपर जोन, छह जोन, 22 सेक्टर और 146 सब सेक्टर में बांटा गया है। सेक्टर में थानाध्यक्ष समेत मजिस्ट्रेट भी लगाए गए हैं। लेखपाल से लेकर पंचायत सचिव तक सभी सूचनाओं के संकलन में जुटे हुए हैं। जिससे किसी भी संभावित योजना का पहले ही पता लग सके। पुलिस की खुफिया विंग भी धार्मिक संगठनों की गतिविधियों पर नजर बनाए रही। 

बेहद संवदेनशील समझे जाने वाले कस्बा नहटौर में खुद डीएम उमेश मिश्रा और एसपी डॉ. धर्मवीर सिंह ने पुलिस बल के साथ गुरुवार की शाम पैदल मार्च किया। उन्होंने नहटौर में चल रही गतिविधियों का जायजा लिया। बाद में पुलिस फोर्स को जरूरी दिशा निर्देश दिए गए। अपने-अपने सुपर जोन में बिजनौर मुख्यालय पर एएसपी सिटी डॉ. प्रवीन रंजन सिंह, एएसपी देहात राम अर्ज ने चांदपुर और एसपी पूर्वी ओमवीर सिंह ने भी पैदल मार्च किया। जिला मुख्यालय पर सीओ सिटी कुलदीप गुप्ता और प्रभारी निरीक्षक रविंद्र वशिष्ठ ने जामा मस्जिद के आसपास इलाके में पैदल मार्च किया। छतों का जायजा लेने के लिए ड्रोन उड़ाया गया। पुलिस ने जिलेभर में ऐसी जगहों से ईंट पत्थर हटवाएं हैं, जहां निर्माणाधीन मकानों के लिए सामग्री पड़ी हुई थी। जिसमें पुलिस ने नगर पालिकाओं की मदद ली है। 

24 घंटे निगरानी कर रहे 50 पुलिसकर्मी
जिला मुख्यालय पर सोशल मीडिया सेल की टीम में शामिल उपनिरीक्षक तेजपाल, नंदकिशोर, विकास कुमार, राजेश गिरी, गौरव कुमार आदि सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफार्म पर निगरानी कर रहे हैं। हर थाने पर दो दो सिपाही फेसबुक और व्हाटसएप आदि की निगरानी कर रहे हैं। जुमे की नमाज को लेकर यह सतर्कता बरती जा रही है। इसी का नतीजा है कि गुरुवार को नहटौर पुलिस ने एक ग्राम प्रधान और शहर कोतवाली पुलिस ने एक युवक को सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट में गिरफ्तार किया है।

जुमे पर फिर अलर्ट, पुलिस और हुई सख्त 

मुजफ्फरनगर में जुमे की नमाज को लेकर पुलिस-प्रशासन ने फिर अलर्ट जारी किया। जिले में जगह-जगह चेकिंग अभियान चलाया गया। डीएम चंद्रभूषण सिंह और एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि कानून को हाथ में लेने की इजाजत किसी को नहीं दी जाएगी। शांति और भाईचारा बनाए रखने का आह्वान किया गया। जिले को पांच जोन और 12 सेक्टरों में बांटा गया है। दंगा रिहर्सल किया और चार कंपनी पीएससी तैनात कर दी गई है।

जिला पंचायत सभागार में डीएम ने कहा कि लोकतंत्र को मजबूत करने में सबका सहयोग जरूरी है। विश्व के बड़े लोकतांत्रिक देश होने के कारण हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी है कि इसको मजबूत बनाते हुए संपूर्ण विश्व को एकता का पाठ पढ़ाएं। किसी प्रकार की समस्या होने पर सकारात्मक संवाद अवश्य करें, जिससे संवैधानिक तरीके से उसका समाधान किया जा सके। सभी भाईचारे के साथ रहें।

एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि पुलिस सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वालों की निगरानी कर रही है। किसी भी प्रकार की भ्रामक खबरों को फैलाने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। किसी भी धर्म के प्रति आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर कड़ी कार्रवाई कर जेल भेजा जाएगा। कोई भी शरारती तत्व या ऐसे लोग जो माहौल बिगाड़ने का कार्य कर सकते हैं, उनकी सूचना तत्काल पुलिस को दें। मांग पत्र देने के लिए जुमे से अलग कोई भी दिन तय करें।

शांतिपूर्ण माहौल बनाएं, अफवाहों पर न दें ध्यान  

शामली में जुमे की नमाज के मद्देनजर डीएम जसजीत कौर व एसएसपी सुकीर्ति माधव ने धर्म गुरुओं के साथ बैठक की। इस दौरान पहले की तरह शांतिपूर्वक माहौल बनाने के लिए सहयोग की अपील की गई। सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों से युवाओं को दूर रखने का आह्वान किया और माहौल खराब करने वालों से सख्ती से निपटने की बात की। 

बैठक में डीएम ने कहा कि इस समय माहौल बहुत ही संवेदनशील है। उन्होंने धर्मगुरुओं से युवाओं को समझाने और सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों से दूर रहने की अपील की। यदि कहीं माहौल सही नहीं लग रहा तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस-प्रशासन को दी जाए। जुमे के दिन जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती रहेगी। इसके अलावा सुरक्षा की दृष्टि से अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात रहेगा। यदि कोई ज्ञापन देना चाहते हैं, तो जुमे को छोड़कर अन्य दिनों में पुलिस-प्रशासन को सूचना देने के बाद ज्ञापन दे सकते हैं। 

एसएसपी ने कहा कि कुछ बाहरी लोग सोशल मीडिया या आपके बीच आकर माहौल खराब कर सकते हैं। ऐसे लोग अगर पोस्टर लगाएं या सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालें। उन्होंने सभी से शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए सहयोग की अपील की। 

जुमे के दिन ही विरोध प्रदर्शन का संशय पैदा न हो
एएसपी ओपी सिंह ने कहा कि कुछ असामाजिक तत्व माहौल खराब करने की कोशिश में हैं। घर का कोई सदस्य अगर गलत कर रहा हैं तो उसे समझाए। वरना पुलिस-प्रशासन कार्रवाई के लिए तैयार है। जुमे की नमाज के बाद ही जुलूस विरोध प्रदर्शन का संशय पैदा न हो। आपसी प्रेम भाईचारे की फिजा हमेशा बनी रहे।

जुमे के दिन निभाएं जिम्मेदारी, शांति से अदा करें नमाज

मेरठ में जमीयत उलमा-ए-हिंद की महानगर इकाई और अन्य उलमा की गुरुवार को गुदड़ी बाजार स्थित पीपल वाली मस्जिद में बैठक हुई। इसमें उलमा ने अपील की कि जुमे की नमाज के दौरान अमन कायम रखा जाए। शहर के लोग युवाओं को समझाएं ताकि शांति या कानून व्यवस्था में कोई अवरोध न हो। जुमे के दिन अपनी जिम्मेदारी निभाएं।




शहर अध्यक्ष नायब शहरकाजी जैनुस राशिद्दीन ने कहा कि हुजूर स.अ. की शान में गुस्ताखी करने का किसी को हक नहीं है, उसे सहन नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए, लेकिन हमें ऐसा कोई काम नहीं करना है, जिससे शहर का माहौल खराब हो। कानून तोड़ने का हक भी किसी को नहीं है, कानून व्यवस्था कायम रखना हम सभी की जिम्मेदारी है।

from Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Hollywood Movies